"सी प्रोग्रामिंग/परिचय अभ्यास" के अवतरणों में अंतर

यहाँ
Data_type = int
 
function_name () = main
 
return 0;
</syntaxhighlight>
अंत में, हम इस लाइन को देखते हैं। यह लाइन हमारे प्रोग्राम को समाप्त करती है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम को यह जानने में मदद करती है कि यह प्रोग्राम सफल हुआ या नहीं। हम ऐसा एक्जिट स्थितियो के साथ करते हैं, जो हमारे मुख्य फ़ंक्शन में रिटर्न स्टेटमेंट के साथ ऑपरेटिंग सिस्टम को भेजा जाता हैं। इस स्थिति में, हम एक्सेक्यूसन को त्रुटि के बिना सफल होने के संकेत के लिए 0 का एक्जिट स्थिति प्रदान करते हैं। जैसा-जैसा हमारे प्रोग्राम मे जटिलता बढ़ती जाती हैं, हम अन्य पूर्णांकों को विभिन्न प्रकार की त्रुटियों के लिए कोड के रूप मे इंगित कर सकते हैं। एक्जिट स्थितियां प्रदान करने की यह शैली एक लंबे समय से परंपरा है। अर्थात return 0; ऑपरेटिंग सिस्टम को बताता है कि हमारा प्रोग्राम सफल हुआ। छोटे छोटे प्रोग्रामो मे यह इतना उपयोगी नहीं होता है परंतु जब हजारो लाइनों के प्रोग्राम लिखे जाते है तो हमे छोटे छोटे कंडिशन और फंकशन मे जानना होता है कि उस कंडिशन या फंकशन ने एक्जिट स्थिति के रूप मे क्या रिटर्न किया। यदि रिटर्न 0 हुआ तो उस कंडिशन या फंकशन अपना सफल कार्य किया। यदि रिटर्न 0 के आलवा और कोई आता है तो अर्थ है कि उसमे त्रुटि है। इसका मुख्य उपयोग यही है कि प्रोग्राम के छोटे छोटे कंडिशन और फंकशन की ट्रैकिंग आसान को जाती है।<ref>https://www.gnu.org/software/libc/manual/html_node/Exit-Status.html</ref>
 
=== कम्पीलिंग ===
४५४

सम्पादन